आपकी छोटी सी गलती से फट सकता है आपका फोन(Your phone may explode with your small mistake)

0
17

जब से चाइनीज फोन कंपनियों ने इंडियन मार्किट में कदम रखा है, तब से ही फोन फटने की खबरें आती जा रही हैं. अधिकतर लोग इसके लिए फोन कंपनी को दोष देते हैं जबकि इसमें खुद फोन यूजर की भी गलती होती है.

Your phone may explode with your small mistake

तो चलिए आज आपको बताते हैं कि आखिर कैसे आपकी छोटी-छोटी गलतीयों से आपका फोन किसी बम की तरह फट सकता है.

सही से करें अपना फोन चार्ज

फोन चार्ज करना एक बहुत ही जिम्मेदारी का काम होता है. अधिकाँश लोगों को लगता है कि इससे कुछ नहीं होता मगर फोन फटने का यही सबसे बड़ा कारण होता है.

दरअसल अधिकाँश फोन्स की बैटरी लिथियम की बनी होती हैं. किसी भी फोन के लिए लिथियम की बैटरी बहुत अच्छी होती है मगर इसके भी कुछ दुष्प्रभाव होते हैं. लीथियम बैटरी एक वक़्त तक ही प्रेशर झेल सकती है.

सोशल मीडिया से पैसा कैसे कमाए(how to earn Money through social Media)

चार्जिंग के दौरान जब लिथियम बैटरी में बहुत हीट पैदा हो जाती है. ये हीट ही फोन के फटने का कारण बनती है. ऐसा अक्सर तब होता है जब यूजर फोन को बार-बार या बहुत ज्यादा देर तक चार्ज पर लगता है.

Must Read :-   how to change mobile number in Aadhar card online

इसलिए कहते हैं कि फोन को हमेशा आधे से एक घंटे तक ही चार्ज करना चाहिए. वहीं अगर कभी भी फोन को चार्ज करें तो उसे पूरा 100% चार्ज नहीं करना चाहिए. हमेशा चार्जर को 90% के बाद बंद कर दीजिए.

कई लोग रात को सोने से पहले अपने फ़ोन को चार्ज पर लगा देते हैं. इसके बाद सुबह तक उनका फोन ओवरचार्ज होता रहता है. ऐसा कभी नहीं करना चाहिए वरना अधिक प्रेशर के कारण आपका फोन चार्जिंग के दौरान भी फट सकता है.

फोन को रेस्ट देना है जरूरी

आज कल हमे फोन की इतनी जरूरत पड़ गई है कि हम दिन भर ही फोन इस्तेमाल करते रहते हैं. फोन भले ही एक मशीन है मगर उसे भी रेस्ट की जरूरत होती है. जितना ज्यादा हम फोन को इस्तेमाल करते रहेंगे उतना ज्यादा उसपर लोड बढ़ेगा.

Google Rank Brain क्या है और SEO में क्या सहायता करता है

इसलिए फोन को एक लिमिट तक ही इस्तेमाल करना चाहिए. वहीं रात में तो अपने फोन को हो सके तो स्विच ऑफ करके रख देना चाहिए ताकि उसे भी थोड़ा रेस्ट मिलें.

वायरस से बचाएं अपना फोन

इंटरनेट हर किसी की जरूरत बन चुका है. हर कोई इसे इस्तेमाल कर रहा है मगर इसकी खतरों से भी सब अनजान हैं. आज के टाइम पर इंटरनेट पर सेफ्टी बहुत ही कम है.

कितने ही वेबसाइट ऐसे होते हैं जो सिर्फ और सिर्फ आपके फोन में वायरस भेजने के लिए ही बने हैं. इन वायरस से न सिर्फ आपकी पर्सनल इनफार्मेशन जाने का खतरा होता है बल्कि आपके फोन को भी इससे बहुत नुक्सान पहुँचता है.

Must Read :-   Paytm Postpaid के क्या फायदा है (What is the advantage of Paytm Postpaid)

कई बार इंटरनेट से हमारे फोन में ऐसे वायरस आ जाते हैं जो सीधा उसके ऑपरेटिंग सिस्टम पर हमला करते हैं. इसके बाद ऑपरेटिंग सिस्टम में अपने आप ही कई प्रोसेस चलने लगती हैं जो उसपर लोड़ बढ़ाती है.

हर ऑपरेटिंग सिस्टम एक लिमिट तक ही प्रोसेस संभाल सकता है. जब ये ज्यादा हो जाती हैं तो कई बार फोन का हार्डवेयर ख़राब होने लगता है. फोन हैंग होता है, गर्म होता है और कई बार तो फट भी जाता है.

इसलिए इंटरनेट पर सिक्योर वेबसाइट पर ही जाना चाहिए और अनजानी फाइल्स को डाउनलोड नहीं करना चाहिए.

सोशल मीडिया से पैसा कैसे कमाए(how to earn Money through social Media)

खुद भी फ़ोन का रखें ख्याल

आखिर में आपको अपने फोन का ख्याल खुद भी रखना चाहिए. आज कल के फोन बहुत ज्यादा Mah बैटरी के साथ आते हैं. ये बैटरी बहुत जल्दी गर्म हो जाती हैं इसलिए इन्हें ठंडा माहौल चाहिए होता है.

Must Read :-   How To Make Money With Blogging

इसलिए इन्हें कभी भी टाइट और गर्म जगह पर न रखें. कई ख़बरें आईं कि युवक की जेब में पड़ा फोन फट गया. ऐसे हादसों में सिर्फ फोन कंपनी ही नहीं बल्कि फोन यूजर भी जिम्मेदार होते हैं. टाइट जेब में पड़ा उनका फोन एक्सटर्नल प्रेशर के कार फट जाता है.

वहीं कई बार फ़ोन का ज़मीन पर गिरना भी एक बड़ा कारण बनता है. इससे या तो फोन का हार्डवेयर खराब हो जाता है वरना उसकी बैटरी क्रैक हो जाती है. अब के फोन में बैटरी इनबिल्ट आती है इसलिए उसे निकला भी नहीं जा सकता.

ऐसे में फोन में अचानक ही शॉर्ट सर्किट होता है और वह आग पकड़ लेता है.

फोन इस्तेमाल करना जरूरी है मगर यह जानना भी जरूरी है कि आखिर उसे इस्तेमाल कैसे किया जाए. गलत तरीके से फोन इस्तेमाल करने से ही उसके फटने के चांस बढ़ते हैं. इसिलए इन बातों को जरूर ध्यान रखें और उसके बाद ही फोन चलाएं.

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here